देंखे Video: GRP ने पत्रकार के कपड़े उतारे, पीटा, चेहरे पर किया पेशाब

शामली, उत्तर प्रदेश के धीमनपुरा के पास बुधवार तड़के मालगाड़ी के डिब्बे उतरने की रिपोर्टिंग करने गए टेलीविजन पत्रकार की रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने जमकर पिटाई की और उसके कैमरे तोड़ डाले। मौके पर मौजूद जीआरपी के जवानों ने अमित शर्मा नाम के टीवी पत्रकार के साथ पहले गाली गलौज की और फिर पंच मारे और उसकी जमकर पिटाई की। उसके बाद उसके कैमरे भी छीनकर तोड़ डाले।

पत्रकार ने बताया कि पुलिस ने उनकी एक बात भी नहीं सुनी और वे लगातार उनकी पिटाई करते रहे। उसके बाद जीआरपी ने हवालात के अंदर बन्द कर पत्रकार को अमानवीय टार्चर किया गया।

मारपीट की घटना वीडियो में भी कैद कर ली गई। पत्रकार अमित शर्मा का कहना है कि पुलिस ने उनके मुंह में पेशाब किया। घटना को लेकर दो पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है।

खबरों के मुताबिक, एसएचओ राकेश कुमार के साथ आए दल ने पत्रकार के साथ मारपीट की। जबकि पत्रकार उन्हें अपने काम के बारे में बताने की कोशिश कर रहे थे।

बता दें अमित धिमनपुरा के पास मालगाड़ी के बेपटरी होने को कवर कर रहे थे। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मी सादे लिबास में थे. एक ने कैमरा पर हमला किया और नीचे गिरा दिया।

पत्रकार ने कहा कि जब उन्होंने कैमरा उठाने की कोशिश की तो वे हमला करने लगे। बाद में उन्होंने लॉकअप में मुझे बंद कर दिया, कपड़े उतारे और मुंह में पेशाब कर दिया।

एक न्यूज चैनल के साथ काम कर रहे पत्रकार अमित के साथ मारपीट के बाद सोशल मीडिया पर भी लोगों में गुस्सा है। लोगों ने सरकार ने पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।

पीड़ित पत्रकार अमित शर्मा ने कहा- ‘कुछ दिन पहले रेलवे में गड़बड़ी को उजागर किया था। इसी वजह से रेलवे पुलिस ने निजी दुश्मनी निकालने के लिए मेरे साथ मारपीट की।’

बताया जाता है कि शामली में धीमानपुरा रेलवे फाटक के समीप रात साढ़े आठ बजे ट्रैक बदलने के दौरान मालगाडी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए थे। फाटक बंद होने से सड़क यातायात भी बाधित हो गया था। धीमानपुरा रोड पर भी जाम लग गया।

घटना में ट्रैक भी क्षतिग्रस्त हो गया और ट्रेनों की आवाजाही भी प्रभावित हुई। इसके चलते दिल्ली से आने वाली जनता एक्सप्रेस एवं इसके बाद आने वाली पैंसेजर ट्रेन प्रभावित रहीं।

रात 10बजे तक रेलवे विभाग के अधिकारी और इंजीनियर काम पर लगे थे और जल्द ट्रैक दुरुस्त करने की बात कह रहे थे।

वहीं, यूपी पुलिस ने ट्वीट करके कहा- ‘पत्रकार के साथ मारपीट का एक वीडियो सामने आया है। राज्य के पुलिस प्रमुख ओपी सिंह ने तुरंत एसएचओ (जीआरपी शामली) राकेश कुमार और कॉन्स्टेबल संजय पवार को सस्पेंड कर दिया है। नागरिकों के साथ गलत बर्ताव करने वाले पुलिसकर्मियों को सख्त सजा दी जाएगी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *