7 महीने में 4 हजार बलात्कार, 13,392 उत्पीड़न के केस दर्ज, योगी जी का उत्तम प्रदेश

The95news|उत्तरप्रदेश में भाजपा की सरकार आने के बाद महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ गया है। ये बात सिर्फ विपक्ष ही नहीं राज्य सरकार के अपने आंकड़े भी कह रहे हैं। यूपी में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद महिलाओं के खिलाफ अपराध 35 प्रतिशत बढ़ गया है।
यूपी सरकार के आंकड़ों की माने, अखिलेश यादव की सरकार के आखिरी एक साल (अप्रैल 2016 से जनवरी 2017) के मुकाबले योगी सरकार के शुरूआती एक साल (अप्रैल 2017 से जनवरी 2018) में अपराध 35 प्रतिशत बढ़ गया है।
ये आकड़े इसलिए भी चौकाने वाले है क्योंकि राज्य के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अपराध का मुद्दा जोर-शोर से उठाया था। सपा की सरकार को गुंडाराज कहा गया था लेकिन अब भाजपा के सत्तारूढ़ होने के बाद हालात पहले से भी बदतर नज़र आ रहे हैं।
महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल मामले सपा के आखिरी साल में 33,728 थे जो योगी सरकार के शुरूआती एक साल में 44,936 रहे। इसी तरह बलात्कार के मामले 2,943 से बढ़कर 3,704 हो गए हैं। छेड़खानी के मामले 495 से 987 तक चले गए।
सपा सरकार में उत्पीड़न के 10,219 मामले सामने आए थे लेकिन भाजपा में ये आकड़ा भी बढ़कर 13,392 हो गया है। दहेज हत्या को रोकने में भी योगी सरकार नाकाम रही है। दहेज हत्या के मामले 2,084 से बढ़कर 2,223 हो गए हैं।
योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही महिला सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉयड बनाई गई, तो लगा कि महिलाएं अब सुरक्षित रहेंगी, लेकिन आज ही राज्य के उन्नाव में महिला के साथ बदसलूकी और जबरदस्ती का वीडियो सामने आया है। जिसने जनता की सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।
साभार– एबीपी न्यूज
साभार- BOLTA UP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *